हसीन जहाँ हुई बेनक़ाब, शमी पर लगाए हुए सभी आरोप हुए गलत साबित :

Shami Ex Wife Haseen Jahan
Haseen Jahan
टीम इंडिया के बेहतरीन फास्ट बॉलर मोहम्मद शमी अब देश और आईपीएल के लिए फिर खेल सकेंगे। गुरुवार शाम BCCI की एंटी करप्शन यूनिट ने कमेटी ऑफ एडमिनिस्ट्रेटर्स को अपनी रिपोर्ट सौंपी। इसमें कहा गया है कि कि शमी के खिलाफ मैच फिक्सिंग के कोई सबूत नहीं हैं। लिहाजा, इस मामले में उनके खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की जाए। ये साफ हो गया है कि बोर्ड के साथ शमी का ग्रेड बी कॉन्ट्रैक्ट जारी रहेगा। बता दें कि शमी की पत्नी हसीन जहां ने उनके खिलाफ कई तरह के गंभीर आरोप लगाए थे। इनमें दूसरी महिलाओं से संबंध और कथित तौर पर पैसा लेने की बात भी शामिल थी। इसके बाद, बीसीसीआई ने शमी को प्लेयर्स की सेंट्रल कॉन्ट्रैक्ट लिस्ट से बाहर कर दिया था और मैच फिक्सिंग के आरोपों की जांच एंटी करप्शन यूनिट से कराए जाने का फैसला किया था।

उधर शमी का भी कहना है की हसीन एक महत्वाकांक्षी महिला हैं ! उनको उनके पिछले पति सैफुद्दीन और बच्चो के बारे में कोई जानकारी नहीं थी अपने सपनो को पूरा करने के लिए हसीन ने उनके साथ भी धोखा किया !

पत्नी ने लगाया था मैच फिक्सिंग का आरोप :

- शमी की पत्नी हसीन जहां ने एक न्यूज चैनल पर दिए इंटरव्यू में आरोप लगाया था कि कहा कि शमी ने पाकिस्तानी लड़की से पैसे लिए हैं और वो देश को भी धोखा दे सकता है।

- हसीन ने कहा था, "अलिश्बा पाकिस्तान कराची की लड़की है, शमी उसे बुलाता है, उसके लिए रूम बुक करता है। उसके साथ रिलेशन बनाता है। शमी ने बताया था कि अलिश्बा ने उसको पैसे दिए। जिन्हें मोहम्मद भाई ने जो यूके में रहते हैं मो. भाई, उन्होंने अलिश्बा से पैसे शमी को दिलवाए। किस चीज का पैसा, क्या है, नहीं है। ये मुझे कुछ भी नहीं पता आज तक और शमी ने मुझे कुछ नहीं बताया।"



Indian Fast Bowler Mohd Shami
Indian Fast Bowler Mohd Shami


CoA (Committee of Administrators) ने दिए थे जांच के आदेश :
- CoA ने शमी पर मैच फिक्सिंग में शामिल होने के आरोपों की जांच करने के लिये एसीयू को लेटर लिखा था। चीफ विनोद राय ने ACU के प्रमुख नीरज कुमार को शमी के ऊपर लगे आरोपों की जांच करने और एक सप्ताह के भीतर अपनी रिपोर्ट देने के लिए ईमेल किया था।

- राय ने कहा था, 'मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक शमी पर कई तरह के आरोप लग रहे हैं। सीओए ने शमी और उनकी पत्नी के बीच की टेलीफोन पर हुई बातचीत की रिकार्डिंग भी सुनी है। बातचीत में सीओए को केवल उस हिस्से को लेकर चिंता है जिसमें दावा किया गया है कि शमी ने मोहम्मद भाई से किसी पाकिस्तानी महिला अलिश्बा के जरिए पैसा लिया है।"

- राय ने एसीयू प्रमुख से मोहम्मद भाई और अलिश्बा नाम के व्यक्तियों की पहचान करने और शमी की इनके साथ संबंधों को लेकर अपनी जांच का केंद्र रखने के लिए भी कहा था।
Powered by Blogger.